बैकलिंक क्या है ? What-is-Backlink-Hindi

What-is-Backlink-Hindi और Backlink कैसे बनाये बैकलिंक के बारे में जानने तो बैकलिंक एक प्रकार का URL होता है और URL को लिंक भी कहते है सीधी सरल भाषा बात करे तो Backlink का अर्थ यह है कि आपकी वेबसाइट का URL वाला लिंक किसी अन्य वेबसाइट पर पब्लिश करना होता है. और इस तरह से आपको उस वेबसाइट से अपनी वेबसाइट के लिए एक्सटर्नल लिंक मिलता है. इसी बैकलिंक मदद से आपकी वेबसाइट पर ट्राफिक आता है तो अभी हम इसे डिटेल से जानने वाले है इस बैक लिंक को कैसे बनाये. What-is-Backlink-Hindi

Backlink क्या है (What-is-Backlink-Hindi)

बैकलिंक वो लिंक होता है जो की दुसरे की वेब साईट से आपके वेब साईट तक आने का जरिया होता है. जब एक वेब पेज का लिंक दुसरे वेब पेज के लिंक के साथ जुड़ना ही उसे ही हम बैकलिंक कहते है. अब में आपको उदहारण से समझाता हो जैसे की एक वेब साइट है जिसके पेज को बहूत लोग देखते है और उसके वेब साईट पर आकर उसके ब्लॉग को बहूत लोग पढने के लिए आते है.

तो अगर आपके साईट का लिंक उसके वेब पेज में जूड देते है तो उस लिंक के जरिये उसके वेब साईट पर आने वाले लोग आपके लिंक की मदद से आपके वेब साईट के पेज पर आ जाते है उस लिंक को click करके जिससे की आपके वेब साईट पर लोगो की सख्या बढने शुरू हो जाता है. और आपकी वेबसाईट सर्च engine में अच्छे से रैंक पर आने लगेगी तो इसे ही हम बैकलिंक कहते है. तो इससे आप अच्छे से समझ गये होगे की बैकलिंक क्या होता है.

तो अब हम बात करते है बैकलिंक के महत्व पूर्ण बिन्दो के बारे में जिनको जानना बहूत जरूरी होता है तो आईये उन बिन्दो के बारे में अच्छे से जानकारी प्राप्त करते है. What-is-Backlink-Hindi

हाई क्वालिटी लिंक

हाई quality links वो लिंक होती है जो की उस लिंक के द्वारा बहूत लोग आते यानि की popular होती है और जिसका value गूगल पर बहूत ज्यादा होता है अगर आपके वेबसाइट पर भी हाई quality links मिलते है तो search engine में आपकी वेब साईट को भी हाई ranking मिलेगी

Low quality लिंक

Low quality links वो होती है जो की किसी गलत साईट, spam साईट से आपके वेब साईट पर आ रही है. ऐसे लिंक्स से आपकी website को बहूत नुकसान होता है अगर आप किसी लिंक को अपनी वेब साईट पर जूड रहे है तो वो लिंक high quality link होनी चाहिए तब आप उस लिंक को जूड कर अपने पेज के view को बड़ा सकोगे

Link Juice

जब एक वेब पेज लिंक आपके वेबसाइट के किसी भी एक article के लिंक से या फिर आपके homepage से जूडा होआ होता है. तो वहा से लिंक हो कर आपके वेबसाईट तक आता है तो उसे ही हम link Juice कहते है तो ये लिंक juice आपके आर्टिकल को rank करने में मदद करता है.

इंटरनल लिंक

ये वो लिंक होता है जो आपके वेब साईट के पेज से लेकर के दुसरे के पेज तक जाता है. इसे ही internal link कहते है उदहारण समझते है आपके वेब साईट का आर्टिकल गूगल के पेज में टॉप 10 की रैंक पर है और आप अपने दुसरे आर्टिकल को भी उसी की तरह गूगल पर टॉप 10 की लिस्ट में रैंक करवाना चाहते है. तो आप इन दोनों आर्टिकल को एक दुसरे के साथ लिंक कर सकते है.रैंक कर सकते है.

Anchor Text

वह text जो की hyperlinks के साथ उपयोग होता है तो उसे ही हम एंकर टेक्स्ट कहते है और anchor text में अपना keyword उपयोग में लेके उस keyword से बनाये जाते है.

Backlink कितने प्रकार के होते है

बैकलिंक लिंक दो तरह के होते है

  1. DoFollow Backlink
  2. NoFollow Backlink

DoFollow Backlink

तो मेने आपको link juice के बारे में बताया था तो dofollow backlink उसी को फोलो करता है जो की एक वेब साईट के लिंक से दुसरे वेब साईट के लिंक तक जाने का जरिया उसे ये ही do-follow backlink कहते है जो की आप दुसरे की वेबसाईट पर लिंक देते है या blog पोस्ट पर देते है वो सभी लिंक do-follow backlink होते है. Do-follow backlink आपके साईट को search engine मे बढ़ाने में काफी फायदेमंद होता है.

NoFollow backlink

एक वेब साईट से दुसरे वेब साईट तक link juicek को नही जाने देना और NoFollow links की search engine में भी कोइ महत्व नही होता है. NoFollow लिंक आपकी साईट को रैंक करने में काम नही आता है.

अपने blog के लिए बैकलिंक कैसे बनाये ?

जितने भी blogger होते है उनके मन में ख्याल आता है की बैकलिंक कैसे बनाये जाते है तो अपने ब्लॉग के लिए अच्छा बैकलिंक होना बहूत जरूरी है जो की आपके ब्लॉग को ज्यादा लोगो तकजाने में बहूत मदद मिलती है तो बैकलिंक बनाने के लिए कोइ सीमा नही है आप जितना चाहे बैकलिंक बना सकते है लेकिन आपको वो लिंक बनाने होगे जिनकी वेबसाइट पर ज्यादा लोग आते है. तो आप उनकी वेब साईट से लिंक बना सकते अगर आप ऐसा नही करते ही तो बाकि और किसी और वेब साईट से बैकलिंक बनाते है तो उस बैकलिंक का कोई फायदा नही होगा जो की आपका पोस्ट ज्यादा लोगो तक नही पहुचेगा और सायद आपके ब्लॉग को गूगल आगे जाकर penalize भी कर दे अगर आप अपने वेब साईट के लिए बैकलिंक सही से बनाना चाहते है तो निचे दिए गये पॉइंट अच्छे से समझे लेना है

Quality Content

जब भी आप अपने वेब साईट के लिए content लिखते है तो अच्छा content लिखे की जिससे की आपके पोस्ट पर लोग कुछ समय तक रहे और आपके पोस्ट को पढ़े और उस पोस्ट से लोगो को कुछ सिखने को मिले और अच्छे content लिखने से आपके वेब साईट भी जल्दी से गूगल के पेज में टॉप 10 की लिस्ट या नंबर 1 की लिस्ट में आजाये जिससे की आपका पोस्ट ज्यादा लोगो तक पहुचेगा

Guest Blogging करे

गेस्ट blogging बहूत लोग करते है और ये guest blogging काफी ज्यादा बढ़ रहा है इसका मतलब ये है की कुछ popular blogs में अपना गेस्ट पोस्ट करना सबमिट करना होता है. जिससे की अपने blog को दुसरे popular blog में प्रोमोट करने का सबसे अच्छा तरीका है और उस ब्लॉग के visitor आपके ब्लॉग में ट्राफिक आने लगेगे.

Q : ब्लॉग रैंक करवाने के लिए बैकलिंक जरूरी होती है क्या?

Ans : बैकलिंक बहुत जरूरी होते है ब्लॉग को रैंक करवाने के लिए जब की ऐसा इस लिया किया जाता है सर्च इंजन को अच्छे कांटेंट होने का सिग्नल मिलते है

Q : बिना बैकलिंक के आर्टिकल को रेंक किया जा सकता है?

Ans : सही है किया जा सकता है बिना बैकलिंक के आर्टिकल को रेंक किया जा सकता है आर्टिकल का On Page SEO और Off Page SEO के जरिये किया जा सकता है.

Q : बैकलिंक कैसे दिखता है?

Ans : यह लिंक बाकी लिंक लिंक की तरह ही दिखता है इस बैकलिंक के मदद से एक वेबसाइट से दूसरे वेबसाइट पर जा सकता है.

Q : बैकलिंक कैसे जाना जाता है?

Ans : इनबाउंड लिंक इनकमिंग लिंक या वन वे लिंक्स के रूप में भी जाना जाता है.

Q : पोस्ट पर बनाये या होम पेज पर बैकलिंक?

Ans : जब भी आप High Authority वेबसाइट से बैकलिंक बनाते है तो आपको होमपेज पर ही बैकलिंक बनाना चाहिए जिससे की आपके ब्लॉग के सभी पेज की कुछ-कुछ लिंक जूस आता रहेगा.  

अंतिम शब्द

तो दोस्तों अभी आपको What is Backlink Hindi और बैकलिंक के प्रकार के बारे में काफी कुछ जानने को मिला है इस पोस्ट के जरिये तो दोस्तों वेसे देखा जाये तो ये वाला टॉपिक बहुत ही बड़ा और काफी ज्यादा चीजे आती है इस समय मेने आपको जो महत्वपूर्ण पॉइंट है उन सभी बिन्दोओं के बारे में डिटेल से जानकारी दे दिया है.

बैकलिंक के बारे में पूरी जानकारी बहुत जरूरी होती है अगर पूरी जानकारी नही होती है तब आने वाले समय बैकलिंक की वजह से आपकी साईट को दिक्त भो हो सकती है तो इसी लिए बैकलिंक की पूरी जानकारी जरूरी होनी भी चाहिए

अगर आपको मेरे द्वारा लिखे गये आर्टिकल और What-is-Backlink-Hindi इसके के प्रकार क्या है इन सभी के बारे में जानकारी अच्छी लगी तो और नया कुछ सीखे को मिला है तो इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करिये और कुछ आप अपनी बाते बताना चाहते है तो कमेंट के जरिये कमेंट भी कर सकते है. What-is-Backlink-Hindi

इनको पढ़े

एनीमेशन क्या है?

Leave a Comment